https://lovedictionary.in/wp-content/uploads/2019/01/PicsArt_01-22-05.13.16.png
https://lovedictionary.in/wp-content/uploads/2019/01/PicsArt_01-22-05.13.16.png

दिल उदास क्यों है . . . जो जरा किसी ने छेड़ा तो छलक पड़ेंगे आँसू , कोई मुझसे यूँ न पूछे तेरा दिल उदास क्यों है ?

तेरी मौजूदगी का अहसास . . . तू हमसफ़र तू हमडगर तू हमराज नजर आता है , मेरी अधूरी सी जिंदगी का ख्वाब नजर आता है , कैसी उदास है जिंदगी . . . बिन तेरे . . . हर लम्हा , मेरे हर लम्हे में तेरी मौजूदगी का अहसास नजर आता है ।

उदासी ठहर गयी . . . खाली नहीं रहा कभी आँखों का ये मकान , सब अश्क़ निकल गये तो उदासी ठहर गयी ।

उदासी शायरी हिंदी में – घिरा हूँ तन्हाई और उदासी घिरा हूँ तन्हाई और उदासी में इस कदर आजकल भूल ना जाऊँ इसलिये खुद से ही खुद की पहचान पूछ लिया करता हूँ !

कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं , उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं , उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है , अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ में । ।

मेरी आँखों में छुपी उदासी को महसूस तो कर . . हम वह हैं जो सब को हंसा कर रात भर रोते हैं

कमाल लोग होते है वो जो हमारी आवाज से ही उदासी और खुशी का अंदाज़ा लगा लेते है

मैं तुमसे कैसे कहूँ । ऐ मेहरबान । तुम ईलाज हो । मेरी हर उदासी का

मौजूद थी उदासी अभी पिछली रात की बहला था दिल जरा सा , के फिर रात हो गई

उदासी तुम पे बीतेगी तो तुम भी जान जाओगे कि , कितना दर्द होता है नज़र अंदाज़ करने से

कुछ ना कुछ तो है इस उदासी का सबब अब मान भी जाओ कि हम याद आते हैं ।

तेरे जाते ही चेहरे पे उदासी आन बेठी थी में जिनमें मुस्कुराता हूँ वो सब फोटो पुराने हैं

आज उदासी ने भी हाथ जोड़कर कहा मुझसे . . . तुझे तेरे प्यार का वास्ता , मेरा आशियाना छोड

मुनासिब समझो तो सिर्फ इतना ही बता दो दिल बेचैन हैं बहुत , कहीं तुम उदास तो नहीं

कुछ तो खास बात है , मेरी मेहमान नवाजी में उदासी आई रुक गई , दर्द आया ठहर गया

ज़रा सी उदासी हो और कायनात पलट दे ज़िन्दगी में ऐसा भी एक कोई होना चाहिए

शाम की चाय , हल्की सी सर्दी , तुम्हारी याद और यह उदासी , वाकई बागों में बहार है ।

जुदाई बर्दास्त होती नहीं । तन्हाई में रात गुजरती नहीं । आसमां भी रोता है ज़मीं की सोहबत को यू ही बेसबब बरसात होती नहीं

जो तीर भी आता वो खाली नहीं जाता , मायूस मेरे दिल से सवाली नहीं जाता , काँटे ही किया करते हैं फूलों की हिफाज़त , फूलों को बचाने कोई माली नहीं जाता ।

उदास हूँ पर तुझसे नाराज़ नहीं तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नहीं झूठ कहूँ तो सब कुछ है मेरे पास और सच कहें तो तेरे सिवा कुछ नहीं ।

सभी को अपनी मंजिल तक पहुँचना है । हर राही को इसका आभास है । वो बेटा भला क्या कर सकता है । जो अपने बाप की वजह से उदास है ।

इतनी उदासी क्यों जब नसा – ए – शाम आपके पास है , इतनी मुस्कराहट क्यों जब दिल्लगी की बात है , जो दूर जाता है उसकी भी कोई मजबूरी होगी , केवल आपकी ही नहीं उसकी भी मोहब्बत अधूरी होगी ।

मायूसी को पास भी मत आने देना । ये सारा काम बिगाड़ देती है । एक एक कदम होश से रखना । बदहवासी बना बनाया घर उजाड़ देती है

बच्चों को अपने फैसले करने नहीं देते और कहते हो बच्चे आपको बूढ़े होने नहीं देते

खुशियाँ खो गयी हैं ख्वाहिशों के मेले में अच्छा होता ख्वाहिशें गिनती के होतीं

याद तुम्हारी ना आए ऐसा हम होने ना देंगे , दोस्त तुम्हारे जैसा हम खोने नही देंगे , एक दो स्मस करते रहना , वरना रात को हम सोने नहीं देगे

करनी है खुदा से गुजारिश , तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले , हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा , या फिर कभी जिंदगी न मिले

गुनाह करके सजा से डरते है , ज़हर पी के दवा से डरते है . दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे , हम तो दोस्तों के खफा होने से डरते है

दोस्ती नाम है सुख दुख की कहानी का , दोस्ती नाम है सदा मुस्कुराने का , यह कोई पल भर की पहचान नही , दोस्ती नाम है सदा साथ निभाने का .

आंख में अश्क और सूरत पे उदासी देखें आईना ये बता कि और हम क्या – क्या देखें

जिंदगी का कोई कोना अब कहीं न बचा वजूद को अब हर सांस पे टूटता देखें

ढल रही शाम में उठती हैं अंधेरी लपटें रात की आग में रोज चांद को जलता देखें

सुन रही हो तुम , मैं तुमको सदा देता हूं मौत तक हम तेरे आने का रास्ता देखें

कितने तन्हा – तन्हा से नजर आते हो देखते हो नहीं , तुम ऐसे गुजर जाते हो

जब भी नजरें मिली तुमने मुंह फेर लिया तुम भी दुश्मन की तरह हमसे पेश आते हो

आगजब लग ही गई दिल के आशियाने में चंद अश्कों से बुझाने में बुझे जाते हो

इसका अफसोस है कि हम तुझे पान सके दिलरुबा तेरी पनाहों में सर छुपा न सके

अब तो तन्हा हुआ हूं उम्रभर के लिए । पर तेरी आहट इस दिल से मिटान सके |

ये अंधेरा मेरी आंखों में सिमट आया है । तेरे इस दर्द में हम दीपक जलान सके

तेरे चेहरे की उदासी ने हमें बर्बाद किया तेरे आंसू से हम खुद को बचा न सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here